हमार देश

एक आम आवाज

237 Posts

4359 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 4243 postid : 956599

मूरख मंच ,...आदरणीय प्रधानमन्त्री जी !

Posted On: 26 Jul, 2015 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

आदरणीय मित्रों ,…सादर प्रणाम

आज रहा नहीं गया तो मानव के बजाय मूरखों की खोज में निकल पड़ा ,….बहानेबाज मूरखमंच तो नहीं मिला लेकिन प्रधानमंत्री जी के नाम उनकी एक चिट्ठी जरूर हाथ लगी ,…..आज वही प्रस्तुत करता हूँ !

आदरणीय प्रधानमन्त्री जी ,..सादर नमस्ते !

हम कुशल से हैं और आपकी कुशलता की प्रार्थना हैं ,…..बहुत दिन से सोचते हैं कि आपसे कुछ कहें ..फिर सोचते हैं कि सूप बोले तो बोले ,चलनी का बोले जिसमें बहत्तर छेद !……..फिर देखते हैं कि फटे ढोल भी नानस्टॉप दे ढमाढम जुटे हैं ….खैर !

सबसे पहले आपको एक साल के बढ़िया कार्यकाल के लिए हार्दिक बधाई ,…..देशभक्त प्रधानमन्त्री को तमाम जनहितकारी योजानाओं के लिए बहुत बहुत हार्दिक आभार ,……सबका भरपूर लाभ नीचे तक पहुंचे, सब सद्भावना का लाभ उठायें ….साथे साथ नववर्ष रामनवमी ईद जन्माष्टमी पंद्रह अगस्त आदि की पुरानी अग्रिम बधाई स्वीकार हो !…अब ताजा मुद्दा पर आते हैं ..

आजकल संसदीय ठुल्लेबाजी जोरों पर है ,….. इस खाऊ राज व्यवस्था को लगाने वाली कांग्रेस अपने साथ इसको भी मिटाने पर आमादा है ,..बाकी चिल्लर सेलफ़ आउटडेट !…….देश खुली आँखों से सब देख रहा है !………विमर्श चर्चा के लिए बनी संसद में चर्चा कार्य के बजाय केवल खर्चा करते हैं !……….मोटी सब्सिडी पर अलग से खाते हैं ,…….ई बहुत गलत है …सांसदों का वेतन भत्ता बहुत है ,…पूरा ईमानदारो सांसद मजे से कुछौ खरीद खा सकता है ,…और एक बात आई है शाकाहारी मांसाहारी रसोई अलग न हो तो बनवा लेना !…..खैर …आपके दल ने भी कभी ऐसा शोर शराबा किया था ,…….तबकी तस्वीर अभी जिन्दा है !…पुरानी गाँधी गुलाम मक्कार सरकार के काले कारनामे पूरे बेनकाब हो चुके थे ,….देश भरपूर लूटा गया था ,……टू जी कोयला आदि कई महाघोटालों पर संविधानी मुहर लग चुकी थी ,….अब तस्वीर पूरी साफ़ हुई ,….मैडम गांधी बेटा बेटी दामाद चमचों सबने मिलकर लूट मचाई ,…खाने वाले कई कारखाने चौबीस घंटा कार्यरत रहे ,..नोट पानी जल जमीन आकाश पाताल सब खाए लुटाये गए ,…..चाय बीड़ी में देश की अकूत सम्पदा बेंची गयी ,…संविधानी आकलन से कई गुना ज्यादा के घोटाले हुए ,… कानून गवाह सबूत से लचरबंद है ……असल बड़े गुनहगार के बचने की व्यवस्था मजबूत लगती है ,..तभी आज सब मौज से भाषण पिलाते हैं ,…..गुलाम सरकार मंत्री कुनबों की खुली लूट कमीशनखोरी जगजाहिर हो चुकी थी ,….अड़ियल कुकर्मी दरबारी किसी की सुनना ही नहीं चाहते थे …तब भाजपा ने कुछ कुछ ऐसा ही किया था ,…लेकिन ,…..इनके जैसी बेशर्मी कोई दुनिया का नेता आदमी नहीं कर सकता ,..इनका राज गया तो……दुनिया स्वर्ग से नरक में जा पहुंची और ये उबारने खातिर देवदूत बनने का नाटक करने लगे ,….वाकई सरजी देश दुनिया हैरान है !….चमड़ी विहीन कांग्रेसी चेहरे पर कितने चेहरे हैं !………..वैसे …देश तब भाजपौ से सहमत नहीं था ……..अब उनके घोरतम पैदाइशी समर्थक भी उनसे असहमत हैं ……लेकिन चर्चा हुई तो नेहरू से मोहन गांधी तक और ज्यादा नंगे हो सकते हैं !..

सवाल फिर बड़ा है ….कुटिल कुंठित मानवी मानसिकता से लोकतंत्र नाकामी के कगार पर है !…….इस छली तंत्र ने हमारा सबकुछ छीना है ,…….मन मान मानव मानवता मानसिकता सबका तत्व सम्बन्ध हैं ….सब गड़बड़ी कहाँ कहाँ पर है .. कहाँ से शुरू है ……… बहुतै रोचक कुटिल जटिलता है सब ,……ई कुटिलता में हम सदियों से फंसे हैं ,…लेकिन ,परमात्मा सदैव हमारी सहायता करते हैं ……अब वो प्रत्यक्ष बन जाएँ ….सब संबंधों संस्कारों में मिल जाएँ ,..तो बात बन जाए !……उनको मिलना ही होगा ,…मात पिता का वात्सल्य संतान खातिर हमेशा रहता है ,..कुटिल संतान कितनौ कमीनापन करे ,…वात्सल्य पोषण में कमी नहीं होती !….ऊ तो परमपिता हैं ,..परम समर्थ हैं ,….ऊ कैसे हमको एक मिनट छोड़ सकते हैं !…..

प्रधानमन्त्री जी ,…फिर आजकी तस्वीर देखते हैं ,…..आपकी सरकार पर ललित मोदी सुषमाजी का मामला है ,….ललित भारत का भगोड़ा है ,……हमको मूर्ख बनाकर लूटे धन से विदेशों में एशपरस्ती करता है ,…. पत्नी के इलाज के लिए उसने विदेशमंत्री सुषमा जी से अन्यत्र यात्रा में सहायता मांगी ,…मानवीय आधार मानते हुए सुषमाजी ने कुछ सहायता दी होगी ,…वो इंग्लैंड से पुर्तगाल गया फिर वहीँ लौट आया !  खुलासा होते ही भूखे खौवों का दिल उछलने लगा ,…अब तक उछल ही रहा है !… खौवों की क्या बात करनी ,….हर गाली उनके पास जाने से शर्माती है ,….. कांग्रेस यूपीए सरकार ने उसी ललित की भरपूर से ज्यादा मदद की थी ,…वर्ना किसी अपराधी की क्या औकात कि कानून से निकलकर मस्त कुलांचे भरे !

अब सीधी निगाह डालते हैं ,…सुषमाजी आपकी ख़ास सहयोगी हैं ,…..वो बहुत काबिल कर्मठ देशभक्त विदेश मंत्री हैं ,….उनका कार्यकाल उपलब्धियों से भरा है ,..यादगार है ….लेकिन उन्होंने एक भगोड़े की मदद की है ….वजह कुछ भी हो .. दामन पर दाग तो पड़े हैं !….. वो एक विद्वान् वकील हैं ,..कानून नैतिकता सबकुछ जानती समझती हैं !………भारी भ्रष्ट ललित महाभ्रष्ट दीदी जीजा भैय्या मैय्या सबका प्यारा दुलारा था ….लेकिन देशभक्त मंत्री का लाभान्वित फरियादी नहीं होना चाहिए !… सरकार सुषमाजी मंत्री आपका दल आपके शुभचिंतक कुछ भी कहें समझें समझाएं लेकिन उससे सच नहीं बदलने वाला है !……..आपके कुटिल विरोधी पूर्णरूपेण दुष्ट भ्रष्ट मक्कार हैं लेकिन इससे अपनी गलती कहाँ मिटती है !!….इस काले युग की भ्रष्टतम राजनीति में उनकी गलती मामूली क्षमायोग्य है !……लेकिन …गलती तो है …..हम मूरख मानते हैं कि सुषमाजी को अपनी गलती का आभास करते हुए पदत्याग करना चाहिए !……..राष्ट्रहित राष्ट्रसम्मान सर्वोपरि !………..त्याग कठिन जरूर है लेकिन यह सुखदायी फलदायी होता है ,…त्याग महानता की निशानी है ,……ऐसा सत्य सनातन भारतीय संस्कृति का मानना है !…. नियति जब त्याग मांगने लगे तो उसकी कुछ विशेष देने की इच्छा होती है !…….अच्छा होगा यदि सुषमाजी त्यागपत्र दें और आप संसद में गहन सार्थक चर्चा के बाद सही निर्णय करें ,….. पूरे राजनीतिक भ्रष्टाचार पर खुली चर्चा हो ,……….सटीक निष्कर्ष के बाद जल्द कठोर कानून बने ….राजसी जिम्मेदारी तय हो ,…..राज लुटेरों को सजा हो ,….उनसे पूरी वसूली हो ,…देश आगे दौड़े ,…..सार्थक राज सुधार हो ,……..हम जानते हैं कि मौजूदा राजतंत्र ऐसा नहीं कर सकता !…क्योंकि हम मूरख ही नहीं कमीने भी हैं ,…शायद हम खाऊतंत्र के ही काबिल थे !

खैर ,.दूसरी ललित शिकार राजे महरानी हैं ,…..कोई व्यवस्था कानून जुगाड़ कुछौ कहे लेकिन जो खुला वो साफ़ है ,…वो स्पष्ट भ्रष्ट हैं ,…ललित मोदी से वसु राजपरिवार की खाऊ सांठगाँठ थी ,…..काले धंधेबाजों को राजनीति में रहने का हक़ नहीं होना चाहिए ,….आपके दल में तो कदापि नहीं होना चाहिए …..अहंकारी रानी खुद न हटे तो फ़ौरन बर्खाश्त होनी चाहिए !……..अहंकारहीन हो सकें तो प्रायश्चित तप त्याग करना चाहिए,…..न हो सकें तो सवारी अपने सामान की खुद जिम्मेदार है !

मध्य प्रदेश का मामला हमको टेढ़ा लगता है ….जिन कमीनों ने टूजी को कभी घोटाला ही नहीं माना वो गलाफाड़ बताने लगे ….व्यापम टू जी से बड़ा घोटाला है !……..हो भी सकता है ,….कांग्रेस ने ही इसकी शुरुआत की है ,..बहुत निकम्मे मालदारों को ऊपर चढ़ाया होगा ,…….कोई पुराना पापी ताकतवर किसी शातिर मंडली का बाप बना होगा  ,..फिर भोपाल हार के खुद दिल्ली में गुरुआई जमाई ,….दोनों कमाई अपनी बनाई !…….संदेह ई लिए और पुख्ता होता है कि शुद्धता समर्पण के मिशाल संघ नेता का नाम दिग्गी ने जबरन घसीटा ,…..फर्जी सूचियाँ दस्तावेज तक बनाए गए ……..और तमाम हत्याएं हुई !…….कांग्रेस आदिम आदमखोरों का कुनबा है ,….कुकर्म कमीनेपन ड्रामेबाजी में इनका कोई सानी नहीं ,……हमारे अनेकों सपूत इनकी साजिशों का शिकार हुए हैं ,…..फिरभी देशभक्त का लबादा बनाए रहे …….फिर बड़े लाभ खातिर अदने गुर्गों गवाहों जानकारों को मारने में काहे हिचकेंगे ,…..संवेदना नाटक अलग से हिट !…..उल्टा आरोप दांव लगाकर विपक्षी को पटक सकें तो दसों द्वारों में लड्डू ही लड्डू ! …….जो मृतक गिनती गाई जाती है वो सब हत्याएं नहीं थी ,…सब घोटाले के गवाह नहीं थे ,……..राज्य सत्ता से गड़बड़ जरूर हुई है ,…..शिवराज जी बेहतरीन मुख्यमंत्री हैं ,…दिग्गीराज में चौपट हुए मध्यप्रदेश को उन्होंने संवारा है ,…वो त्यागमूर्ती उमाजी के होनहार उत्तराधिकारी हैं ,….हमको शिवराज सिंह जी सच्चे लगते हैं ,….व्यापम की सच्चाई से पूरी जांच होनी चाहिए …..हर गुनाहगार को दंड मिलना चाहिए !……..सुधार की गुंजाईश हमेशा हो सकती है ,….सबको सतत प्रयास करना चाहिए !….मध्यप्रदेश राज्यकेंद्र सम्बन्ध का आदर्श उदाहरण रख सकता है !…….

प्रधानमन्त्री जी ,..और का कहें ये लोग आपके दल के हैं ,….महाराष्ट्र की मंत्री पंकजा देवी अपनी कांग्रेसी सहेली पर काहे मेहरबान हुई ……कुर्सी अधिकार सेवा कर्तव्य के लिए मिलते हैं !… इधर उत्तर प्रदेश में भारी भर्ती घोटाला जारी है ,…समाजवादी खानदान में ही दर्जनों भर्ती दफ्तर दलाल खुले हैं ,….बेशर्मी से खाने वाले तमाम कारखाने यहाँ भी चालू हैं ….जनता बेहाल है ,..इधर भी देखना !……बाकी तमाम राज्यों में भ्रष्ट महाभ्रष्ट मुख्यमंत्री हैं ,…पंजाब हिमाचल उत्तरांचल उत्तरप्रदेश बिहार बंगाल आदि तमाम राज्यों की सत्ता भ्रष्ट है ,….दिल्ली राज्य पैदाइशी भ्रष्ट नाटकबाजों के हवाले है ,……वो सबसे ज्यादा रोना भी रोते हैं ,..केजरीवालजी को एक सलाह भेजिएगा !….दिल्ली बहुत मालदार प्रदेश है ,….. चाहें तो तुरंत अपनी सामाजिक पुलिस बना सकते हैं ,..आप उसे मान्यता दीजियेगा !……हम राष्ट्रीय राजधानी की सुरक्षा किसी भी राज्य सरकार को नहीं दे सकते हैं !…….एक बात और कहते हैं ,…दिल्ली के उपराज्यपाल भी दूध के धुले नहीं लगते ,…केजरीवाल को ज्यादा जल्दी और मशहूरी का चस्का बर्बाद किये है ,……तो जंग साहेब उनके पैरोकार ही लगते हैं !…….यह ख़ास किस्म का गुप्त भ्रष्टाचार लगता है ,…..इसमें विदेश नियंत्रित मीडिया मुगलों की बड़ी हिस्सेदारी है ,…भीतर कुटिलता भरकर बाहरी विनम्रता का दिखावा बहुत घातक होता है ,……..वैसे पूरे देश में गुप्त खुले भ्रष्टाचार का बोलबाला है ……इसे मिटाना आपका दायित्व है !

…आपके तमाम वादों पर काम होना बाकी है ,…हमको विश्वास है कि आप सब पर खरा उतरेंगे !…..लिखा थोडा आप समझना बहुत !……समस्याएं बेहिसाब हैं ,…..आप हिसाब से सबका समाधान करिए ,…आप कुटिल विरोधियों के दुष्प्रचार पाखण्ड में मत उलझना !……मानवता का मूल शिक्षा कृषि सब बेहाल विषैले है ,…..उन्नत भारतीय भाषाएँ माटीमोल हैं !…….जनसँख्या बेहिसाब बढती जाती है ,…संसाधन मिटते जाते हैं ,….मानवता पशुता से भी ज्यादा गिर जाती है ,…….मूरख मानव कष्टकारी मलिनता में फंसा है ,…. वैसे हम खुद अपने अपराधी हैं …. हमारी आपसे कुछ कहने की औकात नहीं लेकिन मूरख भड़ास निकालना भी जरूरी है ,…..शेष जो होना है वही होगा ,…हम प्रार्थना ही कर सकते हैं !

प्रधानमंत्रीजी ,..आप भारत के आशादीप हैं !……….आपके कुशल समर्थ नेतृत्व में भारत नित ऊंचा उड़े ,….पतित मानव अपनी मानसिक जंजीरें तोड़ स्वर्णिम उत्थान के लिए चल पड़े !…….योगमय भारत सुख शान्ति का वैभवी खजाना त्रस्त दुनिया को लुटाये ,..हमारे महापुरुषों के सपने पूरे हों ,……इन्ही मंगलकामनाओं के साथ आपको फिर से सादर नमन …

वन्देमातरम !

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



latest from jagran