हमार देश

एक आम आवाज

237 Posts

4359 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 4243 postid : 737178

मूरख पंचायत ,......झूठी पिकनिक और .....४

Posted On: 30 Apr, 2014 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

गतांक से आगे ……….

बाबा बोले …………….“..लालू जैसे चोर शैतान मसखरों की बात न करो !..गैय्या भैंसों को हड़ताल करनी चाहिए ,..पता नहीं काहे हम जैसे गधे उनके साथ खड़े हो जाते हैं !…..सजायाफ्ता अपराधी का राजदल चलाना लूटतंत्र का काला नमूना है !……”

नौजवान किसान खड़ा हो गया …………….“…..फारूक शेख ठीक से जानता है .. मोदी नेहरू नहीं है ,..और कश्मीर उसके बाप का नहीं है ,……मोदी चरित्रवान दृढसंकल्पी समर्थ सच्चा भारतपुत्र है ,……कश्मीर भारत मुकुट समान है !……..पूरा कश्मीर हमारा है ,..उजड़े कश्मीरी फिर अपनी महकती मिट्टी में आबाद होंगे !……वहां अजान के साथ मंदिरों की मधुर घंटियाँ बजेंगी ,…..पाक अफगान बंगलादेश भी एकदिन भारत से मिलेंगे ,…..सब अपनी मस्ती में मिलकर साथ बढ़ेंगे !…….”

खेत मालिक भी खड़े हो गए ……………“…जिनको मोदी और बाबा में खोटे दीखता हैं उनकी खातिर सही सलाह है ,….सबेरे चार बजे हाजत के बाद दो लोटा ज्यादा नहायें !…..ओंकार नाद के साथ दस गहरी साँसें लेकर अपने आराध्य से पूछें .. मोदी बाबा कौन है ?……सही उत्तर मिल सकता है !…………….अधिक पापकर्म से जबाब न मिले तो चमड़ा के जूते को दो घंटा भिगोयें .. मट्ठा न मिले तो पानी से काम चलायें ,..फिर शीशे के सामने खड़े होकर बीस बार अपने चेहरे पर जोर से मारें ,…फिर खुद से पूछें …..मैं कौन हूँ ?…..अबकी जरूर उत्तर मिल जायेगा !…”

बाबा ने देखादेखी डंडा खड़ा किया ………….“….तमाम तोते उड़े होश फाख्ता हैं ,…..मोदी आएगा ,….सब चोरों दलालों को डुबायेगा ,…..जनता को नोच नोच कर कमाया धन चला जाएगा !…पूरा देश खाने के सपने टूट जायेंगे ,….यही लिए सब मिलकर भेड़िया सियार रुदन ठाने हैं !………….हमेशा मुसलमानों को डराने वाले खुद खौफ में आ गए हैं !…देश को हमेशा रुलाने वाले गद्दार सपना देखते होंगे ……अब मोदी आएगा हर इंसान मुस्काएगा !….अपने विदेशी बापों आकाओं को का जबाब देंगे !..”

खेत मालिक फिर बोले ………“..ई लोग तब और जार जार रोयेंगे !…… मोदी को बहुतायत बहुमत जरूरी है ,…भ्रष्टाचार के खिलाफ अभियान से भ्रष्ट बादलों गोयलों जैसे संगी साथी भी नपेंगे !…….खाऊ कान्ग्रेसियत हर जगह फैली है ,…उसको मोदी निडरता से मिटाएगा !……इंसानियत के लिए देश जरूरी है ….देश के लिए मोदी जरूरी है ,…..मोदी को हर वोट हर सीट जरूरी है……”

वृद्धा माई फिर बोली …………..“..सबकोई सबकुछ जानता है ,..फिरौ काहे उनको एक वोट मिलता है !.”

बाबा ने उत्तर दिया ………….“.. अव्वल गुनहगार तो हमही हैं !……. हमको मूरख बनाने की कला में ऊ पारंगत हैं ……फिर सब जगह उनके गुणसूत्र वाले दलाल फैले हैं !……..भूखे गरीब के साथ एक फोटू खिंचाई ,…प्रेम के भूखे हजार लोग वाह वाह कर देते हैं !…….मलाई उत्सर्जन चाटने वाले तमाम है ,…..हमारा माल खा पीकर एकसुर में जयकारे लगाते हैं ,…हम फिर फिर मूरख बनते हैं ,…… भरपूर खाऊ बदमाश चाटुकार एकजुट हैं ,…मक्कार शरीफों के पक्के पालतू गोली से धमकाते हैं ,……..मुलायम उनका ऊ मुलायम के ,…माया उनकी ऊ माया के ,…….. नोट बांटकर ऊ सांसद खरीद लेते हैं ,….भूखा गरीब सौ दो सौ में बिकेगा !..”

मौजवान किसान बेफिक्री से बोला …………“..अब कोई न बिकेगा !…….बहुत दिन से जारी गांधी भौकाल से सब भरे हैं ,…….उनके आधे चाटुकारो मोदी को वोट देंगे !……..गांधियों की लुटिया पूरी डूबेगी !….अब देश को मोदी नामक समर्थ देशसेवक चलाएगा !…ऊ गिरे देश को उठाएगा !…”

“… गांधियों का बंटाधार जरूरी है ,…मोदी की सरकार जरूरी है !…”……………..किशोर धीरे से नारे के अंदाज में बोला

……………..“…चौतरफा पिटी गांधी कंपनी फिर देश काटना चाहती है ,….मानवता खाने खातिर धार्मिक आरक्षण का चोट मारी है !…..सरसठ साल में डरे डराए मुसलमान केवल आबादी में तरक्की किये ,…उनके दुश्मने उनके रहनुमा बनते हैं ,……मुसलमान रीझे तो शायद कुछ बाल बचे !.”……………..खेत मालिक ने कसरती अंदाज में पुरानी बात दोहराई तो अधेड़ बोले

“…आरक्षण विखंडन का कुटिल राजनीति करके देश खाने वाले सब गद्दार खाऊ बर्बाद होंगे !…….जातिवादी आरक्षण केवल दस साल खातिर लगा था !…”

खेत मालिक फिर बोले ………….“……चुनाव आयोग को ई सब पार्टियों का मान्यता ख़तम करना चाहिए !….देश तोडू दल नेता का औकात चुनाव लड़ने की नहीं है !..”

अधेड़ ने समझाया …………“…सियारों की हुक्का हों से शेरों पर फरक न पड़े !…..देश ने अपना काबिल शेर चुन लिया है ,…….सब कबीलाई लुटेरे अपनी तशरीफ़ बचाने में बेहाल हैं ,….मुसलमानी वोट हथियावे खातिर सब गुत्थम गुत्था हैं !…”

“..का मुसलमान कबूतर हैं ….चारा डालो ..दावत उडाओ !.”………….. बुजुर्ग माई बोली तो बाबा फिर उबले

…..“..केवल मुसलमाने काहे हमसब कबूतरे शिकार बने रहे !……शातिर शिकारी दाना डालकर हमारा शिकार करते रहे……….हर कांग्रेसी योजना परियोजना का असल लाभ किसको मिला !…….उनके विदेशी बापों को …जनता को सूखे दाने .. चाटुकार चमचों को बड़े बड़े चम्मच भरके … माई बापों को औकात के हिसाब से मटकी ट्राली गाड़ी भरके ..”

नौजवान किसान व्यंगित आक्रोश में बोला ……….“..ट्राली गाड़ी की औकात का है बाबा !……इनकी लूट बेहिसाब है ,……लुटे धन की गद्दी से सड़क बनाकर चाँद तक जाकर आ सकते हैं !…हमारा पचास लाख करोड़ रुपया केवल गांधी खानदान के पास है ,…उनके बापों भाइयों औलादों दामादों का गणित जोड़ने में बेहोश हो जैहो !”…

बाबा ने आक्रोश और बढ़ाया ………..“…हमारा भारत सोने की चिड़िया था ,….हमारे घरों में सोने चांदी के बर्तन थे ,…अपने देश में सोने के आम सिक्के चलते थे ,….हमको पहले विदेशियों ने भरपूर लूटा ,…..उनकी औलाद कांग्रेस ने तो चूसे लिया !….”

अधेड़ आगे बोले ………“..साजिश और ज्यादा गहरी है !…..बांटकर कब्जाया …लूटकर गरीब बनाया ….हमदर्द बनकर खाया ,…..धर्मनिरपेक्ष बनकर विधर्मी बनाया !……फरेबी ईसाइयत के जाल में कसे खातिर झूठी इस्लामियत को मोहरा बनाया !….ई सब धुर अधर्मी हैं ,…इंसानियत को लड़ाकर अपना उल्लू सीधा करते हैं … गलती से अगर ऊ जीते तो भारत खाने भारतीयता मिटाने का काम पूरा !..”

युवा बोला ………….“..अब गलती नहीं जयकार होगी मोदी की !……उनको हारना मंजूर है लेकिन धर्म पंथ के नाम पर वोट माँगना नहीं मंजूर है ,……मोदी सबका भला करेंगे !…..जागे मुसलमान सब समझते हैं ,…मकड़जाल में फंसे इंसानों देर सबेर जागेंगे !..”

बाबा लम्बी सांस भरकर शुरू हुए ………………“…मोदी प्रेमतीर्थ का पुजारी है ,….ऊ केवल देशद्रोहियों का दुश्मन है ……अबकी मोदी को भरपूर बहुमत मिलेगा !…..हमको उम्मीद से ज्यादा मिलेगा !………..कांग्रेस गुलाम बैंगनों को वोट देने वाला एकदिन खुद को घोर पापी मानेगा !….ई सब जाने अनजाने भारत के दुश्मन हैं ,.. खाऊ कुनबों की साठगाँठ सब जानते हैं !….सब जगह नमो नमो मोदी होगा !……मोदी भारत का सबभाँती हित साधेगा !.. सब भ्रष्टाचारी दलाल नेताओं दामादों औलादों की जेलयात्रा होगी !…लुटे माल की वसूली होगी ,…………समर्थ मोदीराज में अकूत कालाधन आएगा ,..चंहुमुखी विकास होगा ,…..भयंकर भ्रष्टाचार मिटेगा ,…किसानी उठेगी !……आतंकवाद नक्सलवाद अलगाववाद मिटेगा !……विदेशी कुचक्र टूटेंगे ,……लचर अपंग विदेश नीति बदलेगी !……नशा अपराध वासना रुकेगी !….मातशक्ति का जागरण होगा ,……मंहगाई बेकारी कुशिक्षा मिटेगी ….मानवता का उत्थान होगा !………..देशभक्त मोदी खानदानी लुटेरों को जबाब है !……. जशोदा बहिन का त्याग तपस्या फलीभूत होगा !…..स्वामीजी के साथ तमाम राष्ट्र साधकों की महान तपस्या रंग लाएगी !…….सोने की चिड़िया भारत अपने पुराने वैभव गौरव को पायेगा !…..”

युवा ने बाबा को सहलाया …………..“..सही कहे बाबा !….. भारत का असल उत्थान भारत स्वाभिमान के पूर्ण जागरण से होगा !…”

“..हमको पक्का विश्वास है !…….स्वामीजी की महान अगुवाई में ई काम जल्दी पूरा होगा ,…मोदी सब काम करेंगे !..”…………………..खेत मालिक बोले तो नौजवान किसान अहिस्ता से बोला …….

“..भगवान् सब जरूरत पूरी करते हैं ,…सबकी जरूरतें निश्चित समय पर पूरी होंगी !……अबकी हर वर्ग हर घर गली कूचे में नमो मोदी नमो मोदी हो रहा है !…….देश का उत्थान पथ अब बहुत करीब लागे !..सबके सपने पूरे होंगे देश सुखी सुरक्षित खुशहाल संपन्न इमानदार बनेगा !….”

खेत मालकिन शिकायती अंदाज में बोली ……………“… अब जाओ भैय्या !….हमको ई खेत आजे काटना है ,..तुमने बहुत हर्जा कराया है ,…..जब पंचायत होगी तब आना !….”

शिकायत स्वीकारते हुए मैंने आभारयुक्त अभिवादन किया ,…..बदले में ढेर सारा प्यार मिला !…..अगली पंचायत की प्रतीक्षा के साथ फिर विदा होना पड़ा …

वन्देमातरम !

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



latest from jagran