हमार देश

एक आम आवाज

237 Posts

4359 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 4243 postid : 737173

मूरख पंचायत ,....झूठी पिकनिक और .....३

Posted On: 30 Apr, 2014 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

गतांक से आगे ….

“..स्वामीजी के मुद्दे का हैं !..”…………..बड़ी महिला ने सवाली अंदाज में काटा तो बाबा बोले ..

“…भारत का उत्थान करे खातिर भगवान् स्वामीजी को धरती पर भेजे हैं !……भारत स्वाभिमान के मुद्दों से देश समाज का परमहित होगा !….. पूरी मानवता का कल्याण होगा .”

“.कुछ सुने तो हैं लेकिन फिर सुनाओ भैय्या ….”………….महिला युवा से बोली तो वो फिर पढने लगा

“..स्वामीजी का पहला सूत्र …..कालेधन को राष्ट्रीय संपत्ति घोषित करना ,…पता लगाकर देश को दिलाने खातिर फ़ौरन प्रभावी परिणाम दायक कदम उठाना .

दूसरा सूत्र ,…सब संसद विधायक अपनी और परिवार संस्थान की सब दुनियावी का सम्पति पूरा पारदर्शी विवरण देवे ,…भ्रष्टाचार उन्मूलन कालाधन उन्मूलन क़ानून के तहत नया प्रावधान किया जाय ,..सब जिम्मेदार लोगों पर जनरल परपज एफ़आईआर लागू हो

तीसरा सूत्र ,….भ्रष्टाचार कालेधन के खिलाफ नंगे राजनेताओं और संयुक्त राष्ट्र के दुनिया में स्वीकृत प्रावधानों मानदंडों के तहत कार्यवाही हो ,….कालेधन की वसूली खातिर प्रतिबद्धता से काम हो ,….कालेधन की हजारों मौजूद सूचनाएँ सार्वजनिक हों ,….

चौथा सूत्र ,…..देशी विदेशी बैंकों के खाताधारकों ,.एफ़ डी आई ,..एफ़ आई आई आदि से जो भी धन आ रहा है ,..और हर तरह के निवेश शेयर होल्डिंग शेल कंपनी ,ट्रस्ट कंपनी ,..तमाम फंड सोना जमीन और सब तरह के वित्तीय उपकरणों में असल लाभार्थी मालिकों के खुलासे का प्रावधान हो ,….देश की अर्थ व्यवस्था पूरा पारदर्शी ,.जबाबदेह न्यायपूर्ण होगी !

पांचवां सूत्र ,….देश की आतंरिक अर्थव्यवस्था के काले धन भ्रष्टाचार मंहगाई कमजोर अर्थव्यवस्था नकली नोट ,.आतंकवाद गैरबराबरी बजट घाटे से देश को निकालने खातिर न्यायपूर्ण एकल कर व्यवस्था व्यवहारिक तरीके से लागू हो !..

छठा सूत्र ,…..भ्रष्टाचार पर रोक के लिए तीन कदम उठें ,…..पहला सीबीआई स्वायत्त हो ,..सीवीसी सीईसी कैग और लोकपाल की निष्पक्ष न्यायपूर्ण नियुक्ति हो ,…….शिक्षा में योग आध्यात्म शामिल करके आध्यात्म संस्कार सदाचार को बढ़ावा मिले ,…..पूरी वित्त व्यवस्था ,.सरकारी बजट ,..भूसंपदा संसाधन की नीलामी और सरकारी ठेके आदि पूरा पारदर्शी हों ,..सब सूचना इंटरनेट पर सबको मिले !

सातवाँ सूत्र ,….भारत स्वाभिमान आन्दोलन के व्यवस्था परिवर्तन सम्बन्धी मुख्य मुद्दे राष्ट्रीय किसान आयोग बने ,..समान शिक्षा समान चिकित्सा व्यवस्था हो,..सार्थक चुनाव सुधार हो ,….सब ऊंचे तकनीकी शिक्षा संस्थानों न्यायपालिका ,..प्रशासनिक व्यवस्था ,..उद्योग जगत ,..रोजगार और विकास के सभी क्षेत्रों में भारतीय भाषाओँ को पूरा गौरव मिले !……राष्ट्रीय संपदा प्रबंधन की न्यायपूर्ण पारदर्शी नीति लगे !

आठवां सूत्र ,….आर्थिक व्यावसायिक सास्कृतिक शैक्षिक न्यायिक प्रशासनिक व्यवस्था स्वदेशी न्यायपूर्ण बनें !

नौंव सूत्र ,…..गौ संरक्षण संवर्धन तथा विषमुक्त कुदरती खेती हेतु अलग आजाद मंत्रालय बने ,….उका विशेष बजट हो ,….राष्ट्रवाद आध्यात्मिक न्यायवाद की विचारधारा नीतियों सिद्धांतों पर चलकर देश का अभ्युदय निश्रेयस सिद्ध होगा ,….हम आध्यात्मिकता के साथ आधुनिकता और विकास का संगम करेंगे ,…दिव्य भव्य भारत का निर्माण होगा और भारत विश्व की आध्यात्मिक आर्थिक महाशक्ति बनेगी !….हर भारतीय शांत सुखी संपन्न सम्मानित जीवन पायेगा !………….. भाजपा नेतृत्व ई मुद्दों से सहमत है ,…उम्मीदवार लोग शपथपत्र पर हस्ताक्षर किये हैं !…देश के हर सांसद को ई मुद्दा अपनाना चाहिए !…”

नौजवान किसान अचरज से बोला ……………..“..तो काहे न स्वामीजी मोदीजी पूरी लुटेरी जमात के अव्वल दुश्मन बनें !……..सब देशी विदेशी भेड़ियों की खाल उतर जाई ,..देश में सुनहरी बहार आ जाई !…”

………….“… मोदी जी भाजपा ई भारत स्वाभिमानी मुद्दों को अपनाए हैं ,……..तब स्वामीजी उनके पुरजोर समर्थन खातिर जीजान से जुटे हैं !….देश के हर इंसान का भला होगा !…”……………युवा ने फिर वही बात दोहराई तो खेत मालिक बोले

“…….मोदी बात का पक्का है ,…उनके इरादे अटल हैं !…..”

युबा ने अपना लेख फिर पढना शुरू किया …………….“..इनको छोड़कर अगला ताजा मुद्दा सुनो ……..निजी हमलों से आहात प्रियंका गांधी ने मोदी पर कड़ा हमला बोला ,…….सोनिया ने कहा गुजरात माडल से देश को भगवान् बचाए !…………..राहुल ने मोदी को झूठा कहा ,….”

अधेड़ ने फिर टोका ………….“…………सोनिया भगवान् से अपनी खैर मनाती होगी ,…,..खानदानी कुटिलता का संसार उजड़ने वाला है ,…हार चुकी कांग्रेस तीसरे मोर्चे की गोद में दुबके खातिर बेचैन है ,……राहुल को सच झूठ का पूरा पते नहीं !….लिखा बांचता हैं ,……देश के मुद्दों पर कुछ बोलने की औकाते नहीं ,…कालेधन के सवाल पर दादी नानी की कहानी सुनाता है !……”

निढाल नौजवान किसान फिर पीठ सीधी कर बोला ……………..“..ऊ गदहा है भाई !….लेकिन लगाम शातिर टीम के हाथ है ,…..इशारे पर सीपों सीपों इशारे पर लत्ती दुलत्ती उछलकूद बाहें ऊपर नीचे करता है !….बाकी अपनी मालदार कुर्सी घास मलाई से मतलब है !..”

अबतक मौन किशोरी धीरे से बोली ………….“..प्रियंका मैडम बहुत जोश में बोलती है !… बोली हम बहुत मजबूत हैं ,…हर लड़ाई जीतेंगे !. संघर्ष करना दादी ने सिखाया है !…..”

पिता ने समझाया ………….“..ऊकी निगाह बहुतै शातिर है ,…. राहुल उकी राह का काँटा होगा बिटिया !……ऊ जैसे अमेठी हारा .. प्रियंका कूदकर ऊपर आ जायेगी !…….ई लिए ताल ठोकना जरूरी है !….उद्योगपति को उद्योग विकास खातिर जमीन देना अपराध है ,…..अपने पति का जमीन कब्जाना पुण्यकरम है !…….”

अबकी अधेड़ गरजे …………“…..देश पहले उनके मुंह पर थूके फिर पूंछे !………सर्वसम्पन्न देश के वासी गांधीछाप लूटतंत्र में गरीब काहे हैं !..भ्रष्टाचार लाइलाज काहे हुआ ,……अन्नदाता किसान मौत काहे ढूंढता है ,…..हमारी बेमिशाल कर्मठता काहे कुंठित हुई !…..हमारी नैतिकता कौन कौन चरित्रहीन हुकुमरान खाया !….. बेकाबू बीमारी बेकारी नशा वासना लूट अपराध चोरी छिनैती काहे बढ़ी ,….लूट भ्रष्टाचार का अमरबेल कौन फैलाया !……..लोकतंत्र को खाऊ कबीलाई में कौन बदला !……कौन कौन हरामखोर मक्कार गद्दार गांधी गुलाम चाटुकार हमारा कितना हक़ खाए !…..इंदिरा गांधी ने हमारे रजवाड़ों धन्नासेठों की अकूत संपत्ति कब्जाई थी ,..ऊ सब कहाँ गयी !….देश में आतंकवाद नक्सलवाद अलगाववाद कौन बढ़ाया !….मिलावट तस्करी बलात्कार अत्याचार अन्याय किसके राज में बेहिसाब बढ़ा !..पैंसठ साल में बिजली पानी के मुद्दे काहे नहीं पूरे हुए ….कट्टरवाद कौन पाला बढ़ाया !….बड़ी आई भौकाल गांठने वाली !..”

……..“..काहे मजाक करते हो चाचा !…..थूकोगे तो स्वाद लेकर चाट लेंगे ,…..फिर हाथ जोड़कर हिलाएंगे और कहेंगे हमारे माई बापों ने देश खातिर कुर्बानी दी है !…”………… नौजवान किसान ने तीर मारा तो अधेड़ फिर बोले

“…गुलाम सत्ता के लोभी गांधी लोग अपनी कुटिल करनी का तनिक सा हिस्सा भुगते हैं …….देशद्रोह का बकाया महापाप आगे भुगते होंगे !……….देश खातिर कुर्बान भगत सुभाष अशफाक श्यामाप्रसाद शास्त्री जैसे लाखों महापुरुष हुए हैं !……..इन्होने छोड़ा किसको है !……गद्दार अंग्रेजगुलामों ने सबको मिटाया है ,……..आज कमीनों के नाम पर हर योजना है ,…..चार कोस चलो चौदह गांधी मिल जाते हैं !..”

“.. जाने की का जरूरत है ,..हर नोट पे मस्त गांधी हमपर हँसता है !…”…………..नौजवान का तीर फिर चला तो बाबा पीड़ा से बोले .

“…..एक नेहरू खानदान ने भारत तबाह कर दिया ,..साथी खानदानों की फ़ौज उनके साथ जुटी !….. नेहरू ने लाखों देशभक्तों का खून पिया !…..अकेली तानाशाह इंदिरा ने का कारनामा बाकी रखा !…….त्यागी मैय्या ने प्रधानमन्त्री सुपरगुलाम मंत्रिमंडल गुलाम बना लिया !……अब कहते हैं एक मोदी के हाथ में सत्ता न जानी चाहिए !…हमारी टीम को जिताकर देश खिलाओ !..”

“..उनकी हर चाल पर देश थूकता है …..शातिरों के नाटक पर सब दर्द से हँसते है ,..बदला लेने की बारी है ,…लेकिन ….प्रियंका महिला सशक्तिकरण पर बोलने लगी है !..”………………..युवा भावशून्य होकर बोला तो खेत मालिक बोले

“..काहे न बोलेगी भाई !….शास्त्रीजी को मरवाकर इंदिरा सशक्त बनी ,…..संजय राजीव पायलट प्रसाद जैसों को निपटाकर विदेशी एजेंट सोनिया सशक्त बनी …..ससुराल जाते ही सास ननद सब निपटाकर अकेली प्रियंका सशक्त बनी !…….ई सब गुलाम शैतान कठपुतले हैं !……हमको भेड़िये जैसा खाते हैं ,….फिर पागल कुत्ते जैसा प्रवचन कर काटते चीखते मरते हैं !…..”

युवा महिला बिटिया के सर पर हाथ रखते हुए बोली ………….“….मोदी राज में देश सशक्त होगा तो सबको शक्ति मिलेगी ,….. महिला पुरुष आपस में बुने हैं !……औरत की सुरक्षा सशक्तिकरण का पहला खुराक नशामुक्ति है !……नशा औरत को घर बाहर सब जगह कुचलता नोचता है …नशा बंद हो तो तमाम औरत जात सशक्त हो जाई !…”

नौजवान किसान बोला ………….“…. विदेशी सिर चढाकर देश की अस्मत लूटने वाले गद्दार नेता लोग ई सब काहे करेंगे !…दारू व्यापारियों से मोटी हिस्सेदारी है !…..हर जगह भारी दलाली कमीशनखोरी है !..”

माता फिर बोली ………“…..प्रियंका बाडरा को कोई प्यार से समझाए ,……फालतू भौकाल गांठना गलत है ………उनकी औकात चोर डाकुओं गद्दारों जितनी है ,..उनको अपनी करनी पर खौफ खाना चाहिए …… भारतपुत्रों से भिड़ने की सोचे भी न !…..यहाँ आठ साला बच्चा बिना तैराकी जाने पंद्रह फुट से कुण्ड में कूदता है …फिर तैर कर बाहर आता है !..नेहरू इंदिरा राजीव सोनिया सबके काले कारनामे देश जानता है ….जितना लड़ेंगे उतना फंसेंगे !….भारत के सामने सच्चाई से आत्मसमर्पण उनका सही रास्ता है !..”

खेत मालिक फिर बोले …………“..अरे विदेशी गाने बजाने खाने बिछाने वाले भारत को कहाँ समझेंगे !..महझूठों का सच्चाई से का लेना देना !.”

बाबा फिर बोले ………..“..आखिरकार फरेबियों मक्कारों जालिमों का काम हमेशा तमाम होता है !……..राहुल गांधी का जाल फरेब दस साल में पूरा नंगा हो गया ,……अब प्रियंका गांधी तमाम जोर मारे है !……चीनी मिट्टी का पिलेट में खलिहान में खाना खाती है !….वोट खातिर गाँव गाँव में हाथ हिलाकर हालचाल पूंछती है !…कहानी सुनाती है !…”

खेत मालिक बोला …………“..उकी अपनी मजबूरी होगी ….कुछ जान पहचान हमदर्दी बची रही तो सल्तनत के ख़्वाब जिन्दा रहेंगे !….भारत लूटने खाने का खानदानी चस्का है ,…..जोर काहे न लगाएगी !…….खुद को इंदिरा की चेली बता दिया !…..पोती पहिले से है !…”

युवा फिर बोला ……….“..भाड़ में जाय प्रियंका …औरो शोर चालू हैं ,………………प्रियंका सोनिया राहुल के साथ माया मुलायम लालू पवार नितीश चिदंबरम फारुख लालू आदि आदि ने मोदी को कट्टर और मोदी राज को देश के लिए घातक बताया !…..फारूक अब्दुल्ल्ला ने मोदी राज में कश्मीर कहीं और ले जाने की धमकी दी है !…………”…………..क्रमशः !

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

1 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

January के द्वारा
October 17, 2016

At last, soeomne who comes to the heart of it all


topic of the week



latest from jagran