हमार देश

एक आम आवाज

237 Posts

4359 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 4243 postid : 727994

मूरख पंचायत ,....अलख निरंजन !..

Posted On: 5 Apr, 2014 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

आदरणीय मित्रों बहनों गुरुजनों ,..सादर प्रणाम ………..फिर ढेर सारी उम्मीदें लाये नववर्ष में आपके मूरखों की पंचायत फिर जुट गयी ,…… हार्दिक शुभकामनाओं के साथ मूरख पंचायत में पुनः आपका हार्दिक स्वागत है |

…………………..

पंचायत जुटते ही सूत्रधार महोदय बोले …….“…..सबको सबकी तरफ से राम राम परनाम !….अपना नया साल लग गया है ,…….नववर्ष में आदिशक्ति माता सुन्दर नया सृजन करें ,….उनकी परम वात्सली गोद में मानवता उत्थान की सुनहरी गाथा फिर लिखी जाय ,…….धरती माता से अधर्म दुःख का विनाश हो !….पवित्र भारत भूमि से दुखी दुनिया को फिर परमसुख प्रकाश मिले ,………लुटती पिटती गिरती मरती मानवता फिर ऊंचे आनंद सुख सागर में कूदे ,…..हम सबके दिल दिमाग से जहरीली मूरखता मिटे …हम अमृत प्रेम सद्ज्ञान सद्शक्ति से मालामाल हों !… ..ई हम सबकी परमेश्वर से करुण प्रार्थना है !…..सबको नवसंवत नवरात्रि की बहुत बहुत बधाई शुभकामना ….नववर्ष मंगल मय हो .. जय हो !…”

“…जय हो .. जय हो…” …प्रतिउत्तर में सुखद भावनाओं का समूहनाद उठा ,…… घुमंतू साधू बाबा पुरजोर भावपूर्ण जोश में गरजे …… “..धर्म की !!…….” ..

दुगुना जोश गूंजा ………… “..जय हो !!!..”

बाबा का जोश और उठा ………… “…अधर्म का !!!……………. नाश हो !!!!..”

“..प्राणियों में !!! ……..सद्भावना हो !!!!…”

“…विश्व का !!!………..कल्याण हो !!!!….”

“…भारत माता की!!!……. जय !!!!…..”

“…गौ माता की !!!….. जय !!!!……”

“…गंगा मैय्या की !!!….जय !!!!…………………………जय जय सीता राम !….जय बांके बिहारी घनश्याम !..”

भावपूर्ण जयकारों के बाद खड़े पंचायती हर्षित भावनाएं बांटते हुए बैठ गए ……….सूत्रधार फिर कुछ बोलने को हुए तभी एक माता बोली ……………. “..बाबू पहिले योग महोत्सव का हालचाल बताओ !…”

सूत्रधार बोले ………….“..का हालचाल बताएं माता !………  अमर शहीदों को श्रद्धांजलि देने भारत प्रेमी उमड़ पड़े !…….दिल्ली का सबसे बड़ा रामलीला मैदान बहुत छोटा पड़ गया !…….आधे से ज्यादा राष्ट्रसाधक बाहर रह गये !…..देश के हर जिले में सफल महोत्सव मनाया गया ,…….इतिहास योग महोत्सव को हमेशा याद रखेगा !…..भारत माता पर कुर्बान रणबांकुरों की आत्मा ख़ुशी से नाची होगी !…”

“…साजिशी लूटतंत्र से दुखी क्रांतिकारी आत्माएं ख़ुशी से फूली न समायी होंगी !……बिसरे सच्चे सपनों को हकीकत बनाने योगी सन्यासी महामानव आया है !……”………………एक बाबा की ख़ुशी निकली तो युवा बोला

“…चोर गांधियों दलालों चाटुकारों की छाती पर बड़े बड़े अजगर विषैले किंग कोबरा लोटे होंगे !………कुटिल सत्ता के खौफ से कोई टीवी चैनल अखबार में खबर न दिखाया !…….कुछ दिखाया तो हरामीपना से !……महान शहादतों को लतियाते आये लूटतंत्र को तनिकौ शरम नही है !……”

दूसरा भी लपका …………..“…..मक्कारों को शरम हया होती तो हमारे सपूत शहीद काहे होते !……अंग्रेजभक्त नेहरू ने सबको मरवाया….ई लोग हमेशा भारतभक्तों को मिटाकर भारत भारतीयता खाने के ख़्वाब पालते हैं !….”

एक और मूरख ने सर हिलाया ……..“…तबहीं बालक गांधी प्रेम मोहब्बत की बात करता है !….भीतर से पूरे राक्षस लोग बाहरी सफेदपोशी में कौनो कसर नहीं छोड़ते हैं !..”

पहला युवा फिर बोला …………..“…..अब उनके मिटने में कौनो कसर न रहेगी !…….भारत स्वाभिमान को चाहे जितना दबाएँ छुपायें….ऊ उठता ही जाएगा !……………भारत उत्थान खातिर स्वामीजी का अखंड परिश्रम पराक्रम सुनहरी छटा लाएगा !….कांग्रेसी सिपाही सेनापति सब लड़ाई से पहले ढेर हो गये !…डूबी नैय्या देखकर बम्पर भगदड़ मची है……..नख से शिख तक अधर्मी सोनिया मैय्या कट्टर संप्रदायी होकर पाकनिष्ठ इमाम बुखारी के चरणों में लोट गयी !….”

पीछे से बुद्धिजीवी टाइप वाला बोला ……………“…….विदेशी गुलाम शैतानी सत्ता वोट बैंक खातिर पता नहीं कहाँ कहाँ लोटती है !…….फर्जी मोदी विरोध बढ़ाकर मुसलमानी वोट मिल गए तो देश खाऊ कातिल सल्तनत का खाता खुला रहेगा !……फिर खाने में का हिन्दू का मुसलमान …सबका गोश्त एक समान !……”

उसका साथी भी बोला …………..“…अब खाया माल निकालने की बारी है तो तमाम तिकड़मों में जुटे हैं !….लेकिन काम कोई न आएगा ,…स्वाभिमानी विजय रथ पर सवार मोदी की लोकप्रियता बढ़ती जाती है ..”

“…. केजरीवाल भाई की महान कृपा से कांग्रेसी लूट घोटाले महाघोटाले टीवी अखबार चर्चा से गायब हो गए !…….बचा तो केवल मोदी का विरोध !……लुटेरे खानदानी कुनबे चाटुकार एक से बढ़कर एक गिरी नजीर देते हैं !…… कोई किसी से पीछे न रहे !……फिर इमाम साहेब के अपने मसले ख़ास चाहतें होंगी !…”……….एक और मत आया ….. वहीँ से प्रतिउत्तर मिला

“..बुखारी दद्दा की हालत हर इन्सान जानता है ,..मुसलमान ज्यादा ठीक से जानता है !….. सगे दमाद की जमानत न बची थी,……..और मोदी का विरोध से सौ गुना ज्यादा समर्थन है !….उनका बेदाग़ जीवन राष्ट्रतपस्या से भरा पूरा है ,……का हिन्दू का इसाई सिख मुसलमान .. हर सच्चे इंसान को मोदी की आँखों में भारत कल्याण के सपने दिखते हैं !…..भारत कल्याण में सबका कल्याण है !…”

………“..लूट क्वीन सोनिया एंड समर्थक चाटुकार मंडली मोदी जी के राज में संप्रदायी दंगों का भरसक खौफ दिखाने लगी है !..माया मुलायम सब एकै राग में गाते हैं !..”…………..एक युवा अपने अंदाज में बोला तो एक बाबा गंभीरता से बोले

“..ई अग्रिम साजिश लागे …अबकी तो गए ही हैं ,…शैतानी टोटके अगली बिसात में काम आयेंगे !….शातिर बच्चा गांधी के बाद इंदिरा छाप दीदी गांधी भी लाइन में है ,..”

एक युवा आगे बोला ………….“..प्रियंका बचपन से शातिर दांवपेंच सीखी है ,..दस साल से परदे के पीछे अकूत कमाई करी है ,…वाड्रा महराज नित्य करोड़ों की दलाली उड़ाते हैं !…….हमारी हजारों हेक्टेयर जमीन हड़प गए !….तमाम कंपनी शेयर हिस्सा उनकी जेब में है !…अब राजनीतिक चाहत उछाल मारती होगी !…….कूट कूटकर भरी शैतानियत कुलबुलाती होगी !….”

मरियल बाबा भी बोले …………“…दीदी मैय्या भैय्या सबकी बत्ती गुल होगी !……..सब जानते हैं …दंगे करने करवाने में कांग्रेस को महारत है !…….अंग्रेजों के जमाने से आज तक यही करके हमको खाते हैं !….फूट डालकर लूटने वाली अंग्रेजी कांग्रेस ने हजारों दंगे लाखों क़त्ल करवाए हैं ……निर्मम गोधरा काण्ड किसका किया था !…….पूरा शांत गुजरात को कौन दंगों में जलाया था !….फिर वही देश काटू मानवता खाऊ गद्दारी करेंगे !…..लोमड़ी छाप साजिशें भेड़िया छाप निर्ममता कांग्रेस का सनातन गुण है !…..वही गुण खाऊ समर्थकों बैंगनों में भरा है !..”

…………“..देश बहुत जागा है काका …..कौनो कुटिलता काम न आयेगी !………शैतानों ने मानवता से फिर मक्कारी करी तो रूह रुलाने वाला दंड मिलेगा !…….रावण के माफिक दुसरे दीप महादीप पर भागे तब्बौ सर्वनाश होगा ,….”………एक युवा जोश ने बाबा को ऊर्जा दी तो दूसरा भी तमका

“. दुसरे ग्रहौ पर भागे तब्बो खींचकर दंड देंगे ! ….”

एक महिला की गंभीर निराशा उठी …………….“…आज तक कोई शैतानी ताकत विनाश से नहीं बची , न कोई बचेगा !…….ई भगवान् का सनातन सत्य विधान है !…….सबको हर हालत में अपने कर्मों का फल भोगना होगा !……”

एक युवती ने भाभी को घुमाया …………..“…सही कहा भौजी !……मोदी की अंध खिलाफत करने वालों को साफ़ आँखों से गुजरात देखना चाहिए ,…….देसी विदेशी हर संस्था मंत्रालय ने सर्वोन्नत गुजरात प्रमाणित किया है !……गुजराती मुसलमान सबसे ज्यादा सुखी हैं !…..आरक्षनी तलवार के बिना सरकारी सेवा पुलिस में उनकी भागीदारी सबसे ज्यादा है !…”

…………….“..ई सब ठीक है ,…लेकिन जाति मजहब ईर्ष्या लालच स्वार्थ के कुटिल काले खेल में भगवत्ता कैसे आएगी !….हमारा जागरण अभी अधूरा है ,….हम अपने संस्कार संस्कृति भूल रहे हैं ,……हमको सब आशा केवल भारत स्वाभिमान दल से है !…”…………एक मूरख के मत पर अधिकाँश पंचायत सहमत दिखी ….पंच साहब बोले

“….जब जागरण पूरा होगा तब भारत स्वाभिमान दल भी मिलेगा ,…..भारत स्वाभिमान खातिर देशहित के मुद्दों का महत्व है …….स्वामीजी भाजपा को मुद्दों पर समर्थन दिये हैं !……हमको पूरी आशा है कि मोदीजी हमारे मुद्दे हल करेंगे !……काला धन राष्ट्रीय संपत्ति बनेगा !…हमारा लूटा धन हमको मिलेगा !…….स्वामीजी के बताये तरीकों से तमाम काला धन निकलेगा ,.. देश का महान स्वदेशी विकास होगा !…..देश का जनगनमन कुदरत सब समृद्ध सुखी सुरक्षित होंगे ,…..स्वाभिमानी अर्थ क्रान्ति से तमाम भ्रष्टाचार मिटेगा ,..बाकी काम कठोर असरदार कानूनों से पूरा होगा ..लूट भूख गरीबी मंहगाई बेकारी भ्रष्टाचार के जहरीले फल हैं ….इनके साथ तस्करी मिलावटखोरी भी मिटेगी ……भारत की समतामूलक सर्वांगी उन्नती होगी !……मोदी को ठोस बहुमत से काले अंग्रेजी कानून मिटेंगे !…हम एकजुटता से अध्यात्मी न्यायवादी व्यवस्था की तरफ बढ़ेंगे !…”

एक मूरख ने पंच के सुर में सुर मिलाया ……….“…….. भारत स्वाभिमान के सब मुद्दे मानवता हितकारी हैं ,…जाति पंथ भाषा क्षेत्र से बहुत ऊपर हैं ,…….ई पूरे होने से देश में नयी बहार आएगी !……स्वामीजी मुद्दों वाले समर्थन पत्र पर सहमति देने वाले का समर्थन किये हैं !…….भारत स्वाभिमानी कार्यकर्ता घर घर जाकर देश के असल मुद्दे बताने लगे हैं ,…हम सबको जगायेंगे !…..अपने भारत खातिर हर भारतवासी का वोट दिलाएंगे !……स्वामीजी ई काम खातिर सालों से दिन रात दलबल समेत जुटे हैं !….चाटुकारों भेड़ियों कायर घुसपैठी बंग्लादेशियों मूरख गधों के सिवा हर हिन्दुस्तानी उनसे सहमत है !….”

एक और माता बोली …………“..अनंत योगबली स्वामीजी के महानतम पुरुषार्थ से सब दीवारें गिर रही हैं ,….योग सबको जोड़ता है ,…सब कालिख मिटाता है ,….. अबकी प्रचंड बहुमत से भारतभक्त सत्ता आएगी !…”

“..भाजपा का घोषणा पत्र कब आएगा !…..कोई मंदिर मुद्दा धारा तीन सौ सत्तर समान नागरिक संहिता की बात करता था !..”………….एक सवाल उठा तो पंच ने उत्तर दिया ……

“…भाजपा जब चाहे घोषणापत्र लाये ,…. अमल करने का पक्का वादा इरादा होना चाहिए ,….. स्वामीजी के बताये हमारे मुद्दे साफ़ साफ़ होने चाहिए !…… भाजपा को स्वामीजी का दिली धन्यवादी होना चाहिए ,……देश में समान नागरिक संहिता सबके लिए जरूरी है ,…निजी मान्यता अलग बात है ,..सर्वजनी हित प्रेम सबसे जरूरी है ,…..अल्पसंख्यक बहुसंख्यक का खेल बहुत जालिम है ,..ई जड़ से मिटना चाहिए ,…..मानव समाज में अल्पसंख्यक केवल अपराधी होने चाहिए !…….धारा तीन सौ सत्तर भयानक विदेशी साजिश है ,…ईका अमलदार गद्दार चच्चा नेहरू है ,….ई मिटनी चाहिए !…….तमाम कश्मीरी भाई बहिन घोर पीड़ा झेल रहे हैं ..उनको उनकी घाटी में पूरे सुरक्षा सम्मान संपत्ति के साथ फिर बसाना चाहिए ,….सबका उत्थान साथ होना चाहिए…….और …..मंदिर मुद्दा दिली है ,..राजनीति सहयोगी बने तो अच्छा है ,…लेकिन ई काम पूरे देश समाज का है …राम के देश में एकदिन सब दिल उनसे मिलेंगे !….अयोध्या में भव्यतम राम मंदिर बनेगा !….पूरा मानव समाज वहां आकर दिव्य शिक्षाएं लेगा ….हर मन मंदिर में भव्य राम मंदिर बनेगा !..”

एक चच्चा बोले ………….“.. सब दिल उनसे ही जुड़े हैं ,……..पोती गयी बाहरी कालिख हमको खंडित करती है !……हम अपनी इस्लामियत की असलियत जानते हैं ,…लुटेरी तलवार के जोर पर हमारे पूर्वजों को मूल से काटा गया ,..फिर बार बार आपस में लड़ाया गया …सबको खाया गया !…”

……………“..कौनो कोबरा पोस्ट का खुलासा निकला है !.,,,,…कहते हैं बाबरी ढांचा गिराने की ट्रेनिंग हुई थी !…”…………..एक नयी बात उठी तो साथी मूरख बोला

“……श्रीराम जनमभूमि पर मस्जिद जैसा ढांचा बनावे खातिर बाबर ने कितना जुलुम किया होगा ,…लाखों अयोध्यावासियों को काटा था ,………..कोबरा तहलका सब गुलाम गांधियों के कांग्रेसी औजार हैं !…….ऊ सबका इस्तेमाल अपने हिसाब से करती है !…….कभी राजीव गांधी ने ताला खुलवाया था ,…गुलाम सत्ता कब्जाने खातिर राज करेगा हिन्दू नारा दिया था ,..कांग्रेसी हिसाब सीधा है ,…सत्ता खातिर गिरगिटी मगरमच्छ बनो !…सफ़ेद लबादे में खूनी भेड़िया बनो ,…जनहितैषी नीतियां दिखाकर भारत लूटो लुटाओ नोचो मिटाओ !….. अपने चालू चाटुकारों को चढ़ाओ……पहला दूसरा तीसरा चौथा मोर्चा बनाओ !…..मुनाफे का गणित लगाकर समर्थन लो समर्थन दो !….देश को उलझाकर खाते रहो !….”

एक माता शान्ति बोली …………..“………भगवान् सबको पूरा सही हिसाब देते हैं ,…बाबर औरंगजेब गजनी सबको उनकी करनी का सिला मिला ,…तमाम जन्मों तक भुगता होगा ,…..कांग्रेसी लूटतंत्र चलाने वाले अधर्मी धर्म जाति का खेल खेलकर मानवता खाते हैं ,….सब भुगतेंगे !……जागी जनता सबका हिसाब करेगी !…. मानवता को बांटकर शैतानों ने बेहिसाब निर्ममता से लूटा है !…….एक दिन पूरी मानवता अपनी असलियत पहचानेगी !….सब उन्ही परमपिता की औलाद हैं ,….एकदिन सब उनकी जगतव्यापी प्रियदर्शी कृपा देखेंगे ,…सब तरह से उनकी ही इबादत होती है !…फिर मानवता से सब कालिख भटकाव अलगाव अपराध मिटेगा !…..जल्दी कुटिल शैतानराज का सम्पूर्ण समापन होगा !…”

“..आमीन !….”……………..एक मोटा स्वर गूंजा तो साधू बाबा ने आँख बंद कर पुकारा

“..हरिओम … तत सत !…..”

“..जय हो महराज जी !…”…………….एक युवा ने कुछ व्यंग्य मिश्रित भावना परोसी तो बाबा फिर बोले

“..जय हो बच्चा !…..जय हो !!…..लेकिन राजनीति हमारा लक्ष्य नहीं है !…….हमारा लक्ष्य धरती पर भगवत्ता लाना है !…पूरी मानवता को सत्य धर्म अपनाना होगा …….वही में दुखी मानवता को पूरा आनंद मिलेगा !…..”…..

युवा फिर बोला …………“..सोलह आना सही बात कहा बाबा !…लेकिन भगवत्ता खातिर भागवत व्यवस्था चाहिए !…..भागवत व्यवस्था खातिर भारतभक्त निःस्वार्थी सत्ता चाहिए !..”..

…………..“..हम स्वामीजी की आज्ञा से भाजपा मोदी को वोट करेंगे ,…राष्ट्रहित आमहित में उनको प्रचंड बहुमत सौंपेंगे !……हम अच्छी मजबूत साफ़ समर्थ देशभक्त सरकार बनायेंगे !….एक एक वोट सीट जरूरी है …महान राष्ट्रऋषि के कहे अनुसार चलना हर भारतीय का पहला धर्म है ,….. हम बार बार अपने धर्मपालन से चूकते रहे …..यही खातिर हम दुखी रहे !…..अब करोड़ों गुना उत्साह से धर्मपालन करेंगे ,…हम अपने पापों अपराधों का सफाया करेंगे सब शैतानियत मिटेगी .. भगवत्ता आएगी !.”…………….एक पंच ने अपनी बात कही तो दुसरे पंच ने समर्थित प्रतिवाद किया

“..हम अपने खातिर कमल पर वोट करेंगे और सबसे कराएँगे !….लेकिन सौदाबाज गुलाटीबाज विदेशी पूँजी गुलाम शातिर राजतंत्र व्यवस्था परिवर्तन नहीं कर सकता है !…सब दलों में कान्ग्रेसियत घुसी है …हमको मानवता हितकारी पूर्ण स्वदेशी व्यवस्था चाहिए !……”

“…हम अपनी पहली आँख से देखे हैं ….बैठे बैठे ई बात हम तीन साल से कहते हैं !…लेकिन आगे एक कदम न बढे !……..सुन्दर सही व्यवस्था देश की जरूरत है ..समय की जरूरत है !…हम समय से बहुत पीछे हैं लल्ला !……..अब उठकर छलांग मारो .. सोचो … सब कैसे होगा !….”…………………एक माता ने जोर से व्यंगित वाद रखा तो साधू बाबा चिमटा खनकाकर बोले ……

“…अलख निरंजन !..”

एक युवा बोला …….. “..हमारे सोचे समझे की ताकत खो गयी बाबा !…..कौनो दुआ ताबीज दो फिर सोचते हैं !..”

बाबा गंभीर मुद्रा में बोले ………..“……सबका मालिक एक है बच्चा !..वही शिवशक्ति विष्णुलक्ष्मी ब्रम्हासरस्वती सीताराम राधाकृष्ण है ,…ऊ सर्वव्यापी हमारे अन्दर गहरे बैठे हैं ,…… उनकी गहरी शरण में जाकर प्रार्थना करो … सब शक्ति मिल जायेगी !……ऊ हर रूप में हमारी सहायता ही करते हैं !……….सबका हित सोचे वाले को करोड़ों दुवाएं मिलती हैं !…फिर कौनो ताबीज गंडा भभूत की जरूरत नहीं होती !…”…………….क्रमशः

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



latest from jagran